घरेलू उपायट्यूमर कहां-कहां होता है जानिए

ट्यूमर कहां-कहां होता है जानिए

ट्यूमर कहां-कहां होता है तो डॉक्टर और विशेषक के अनुसार ट्यूमर हमारे शरीर के कोई भी हिस्से में हो सकता है। ट्यूमर meaning in hindi ट्यूमर यानि की गांठ जो शरीर में कोई भी हिस्से में हो सकती है। ट्यूमर हमारे शरीर में कोई भी प्रकार का हो सकता है। जिसमे कई ट्यूमर जानलेवा भी हो सकते है।शरीर में अगर कोई भी फेरफार दिखाई दे तो हमें तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

ट्यूमर कई प्रकार के होते है। उसमे भी कुछ जानलेवा और कुछ सामान्य होते है। जो आसानी से निकला जा सकता है। कई ट्यूमर ऐसे भी होते है। जिसमे अगर कैंसर के लक्षण दिखाई दे तो उसे निकलना या उसका इलाज भी बहुत मुश्किल हो जाता है।

ट्यूमर क्या होता है in hindi आजकल हमें यह मालूम पड़े की हमारे शरीर में ट्यूमर है तो हम पहले से ही बहुत डर महसूस करने लगते है। क्योकि आजकल ज्यादातर ट्यूमर कैंसर के देखने और सुनने में ज्यादा आता है। ट्यूमर क्यों होता है तो हमारे शरीर में हजारो कोशिका है और इन हजारो कोशिका में कई बार कोशिका नै बनती है कोशिका के नए बनने के समय अगर उसमे अवरोध आ जाए तो वह एक ट्यूमर का रूप ले लेती है।

शरीर में ट्यूमर पैदा होते वक्त शरीर में काफी उसके लक्षण देखने को मिलते है। जैसे की शरीर की त्वचा का रंग बदलना, कम भूख लगना, वजन कम हो जाना, ठंड लगना, रात को पसीना आ जाना यह लक्षण हमे कैंसर के ट्यूमर होने की संभावना की और विशेषक की सलाह के अनुसार दिखाई देते है।

मस्तिष्क का ट्यूमर, ब्रेन ट्यूमर ब्रेन ट्यूमर होने के कारण, ट्यूमर का इलाज क्या है

ब्रेन ट्यूमर का मतलब है की मष्तिष्क में असामान्य कोशिकाओं की वृद्धि होना। जो पहले शरीर में फैलती है और बाद में मस्तिष्क तक पहुँचती है और जिसे मष्तिष्क के लिए घातक माना जाता है। कुछ ट्यूमर जो कैंसर के हो तो वह तेजी से बढ़ते है और शरीर के लिए बहुत ही घातक होते है। जो कम समय में शरीर को नुकशान ज्यादा पहुंचाते है।

बिनाइन ट्यूमर क्या है

बिनाइन ट्यूमर एक ऐसा ट्यूमर है जिसमे कैंसर के लक्षण नहीं होते। इसमें ऐसी कोशिकाओं का समूह होता है जो कोशिका विभाजन और ग्रोथ पैटर्न में अनियमितता पैदा हो तो उससे एक गांठ पैदा होती है और जिसे बिनाइन ट्यूमर कहा जाता है।

मैलिग्नैंट ट्यूमर,बोन ट्यूमर

मेलिग्नेंट ट्यूमर मुँह, नाक, गले, साइनसया लैरिंक्स के कोई भी भाग या हिस्से में देखने को मिलता है। बॉन ट्यूमर की बात करे तो यह ट्यूमर जानलेवा नहीं होता कोशिका अनियंत्रित रूप से विभाजित होने से यह गांठ बनती है जिसे बॉन ट्यूमर खा जाता है लेकिन इसको कैंसर की गांठ नहीं खा जा सकता यह एक सामान्य गांठ की तरह होता है।

पैर में ट्यूमर,रीढ़ की हड्डी में tumor

विशेषग्नों के अनुसार पैर में ट्यूमर और रीढ़ का ट्यूमर रीढ़ की हड्डीओं में या रीढ़ नलिकाओं को कवर करने वाली झल्लिओ के बिच एक ट्यूमर होता है। यह ट्यूमर जिस जगह पर होते है उस भाग को संकुचित करते है। जिससे दर्द महसूस होता है ट्यूमर कहां-कहां होता है तो ट्यूमर शरीर के कई हिस्सों में देखने को मिलता है।

ब्रेन ट्यूमर क्यों होता है?

ब्रेन ट्यूमर का मतलब है की मष्तिष्क में असामान्य कोशिकाओं की वृद्धि होना। जो पहले शरीर में फैलती है और बाद में मस्तिष्क तक पहुँचती है।

ट्यूमर क्यों होता है?

हमारे शरीर में हजारो कोशिका है और इन हजारो कोशिका में कई बार कोशिका नै बनती है कोशिका के नए बनने के समय अगर उसमे अवरोध आ जाए तो वह एक ट्यूमर का रूप ले लेती है।

ट्यूमर क्या होता है?

ट्यूमर यानि की गांठ जो शरीर में कोई भी हिस्से में हो सकती है। ट्यूमर हमारे शरीर में कोई भी प्रकार का हो सकता है। जिसमे कई ट्यूमर जानलेवा भी हो सकते है।

ब्रेन ट्यूमर का इलाज कहां होता है?

ब्रेन ट्यूमर का इलाज इस ट्यूमर के स्पेशियलिस्ट डॉक्टर यातो इसका स्पेशल इलाज के लिए जो हॉस्पिटल होती है वहा किया जाता है।

ब्रेन ट्यूमर में क्या खाना चाहिए?

ब्रेन ट्यूमर में पहले तो डॉक्टर की सलाह सूचन के अनुसार खाना खाना चाहिए क्योकि डॉक्टर इसके इलाज के अनुसार भोजन करने की सलाह देते है। िलिए डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।



- Advertisement -
Exclusive content
Latest article
More article